''Wel-Come''

'कैसे हंसी में खो कर रह गयी एक परिवार की पीड़ा' [ Hanuman Siyag Indrpura]

0
  • Monday, March 5, 2018
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: ,
  • छोटी खाटू के पास ही स्थित एक छोटे से गांव 'इंद्रपुरा' के युवा हनुमान सियाग पुत्र श्री पूर्णाराम सियाग की हत्या कर दी गयी...शव को एक नाडी में फेंक दिया गया...जब पता चला तो...ग्रामीणों और परिवार वालों ने घटनास्थल पर जाम लगवा दिया...काफी युवकों को सन्देह के आधार पर और धरने को को शांत करने के लिये गिरफ्तार भी किया गया...पर धरना अब तक शांत नहीं हुवा था...बल्कि हाइवे जाम था...अब 'युवाशक्ति' अड़ गयी की खींवसर विधायक 'हनुमान बेनीवाल' को घटनास्थल पर बुलाया जाये... अब हनुमान बेनीवाल घटना स्थल पर आने वाले थे..तो हाइवे खोल दिया गया...लोगों की भीड़ युवक को न्याय(???) दिलाने के लिये घटनास्थल पर बढ़ती ही जा रही थी....इतने में हनुमान बेनीवाल घटनास्थल पर पहुंच गये...मुझे नहीं पता की यह विधायक कैसा(???)है परन्तु यह देखकर मुझे कुछ शांति मिली जो लड़का जिस विधायक का फेन था...आज वो उसे न्याय दिलाने के लिये वंहा आया तो सही...अब युवाओं ने इस विधायक को घेर लिया...अब मुझे लग रहा था की चलो अब परिवारवालों का दुःख कुछ कम होगा...अब विधायक ने अपनी बात घटना को दुःखद बताते हुवे और अपराधीयों को पकड़वाकर घरवालों को न्याय दिलाने के साथ शुरू की....पर इसके बाद माहौल कुछ बदल सा गया..चारों तरफ खड़े युवा उस विधायक के शब्दों पर 'तालियां' बजाने लगे...कुछ युवा फोटोज खींचने लगे...फेसबुक पर जो शेयर करनी थी...कुछ युवा वीडियो बनाने लगे... Whatsapp पर जो शेयर करना था..पर अब अगला नजारा तो बिल्कुल ही बदल गया.. .विधायक के शब्दों पर लोग 'हंसने' शुरू हो गये...थोड़ी देर बाद विधायक जी भी हंसने लगे और पुलिस के बड़े बड़े अधिकारी जो वंहा उपस्थित थे वो भी हंसने लगे...अब बारी फोटो खिंचवाने की आयी...आखिर विधायक जी को न्यूजपेपर में भी आना था...मान लिया यह ठीक हे...पर फ़ोटो खिंचवाने के लिये यह नेता और पुलिस अधिकारी इस तरह जच के खड़े हो रहे थे मानो फ़ोटो किसी शादी के एलबम के लिये ली जा रही हो...अब विधायक जी चले गये... अब जाने की बारे युवाओं की थी...तो उन्होंने भी अपनी बाइकें और गाड़ियां सड़क की ओर मोड़ ली...परन्तु वो शव अब भी वंही पड़ा था...बचे थे तो केवल परिवारवाले,पुलिसवाले और कुछ बुजुर्ग।।

    भाई तूने जिस नेता को अपना आदर्श माना था वो तुझे न्याय दिलाने की बात करके भी गया..सबको हंसा के भी गया और हंस के भी गया...अब तुझे न्याय मिला तो तुम्हारे सारे युवा मित्र इस विधायक को श्रय देंगे...हो सकता हे में भी दूँ...पर में उन 'तालियों और हंसते हुवे चेहरों' को कभी नहीं भूल पाउँगा।



    श्रद्धांजलि के साथ..
    ©Vijay Kurdiya Choudhary
    (Photo Source:- Fesbook)


    पशु क्रूरता के नाम पर बंद होती पौराणिक तांगा दौड़ || [ Kharanal Tanga Dod]

    0
  • Sunday, August 20, 2017
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: ,


  • क्षेत्रफल की दृष्टि से नागौर का राजस्थान में पांचवा स्थान हे |नागौर के खरनाल, मुंदियाड़, कुम्हारी-बासनी और रोल में कईं सौ सालों से धार्मिक आस्था के नाम पर ऐतिहासिक तांगा दौड़ आयोजित की जाती रही है | जो केवल धार्मिक आस्था का प्रतीक ही नहीं अपितु हिन्दू-मुस्लिम एकता का भी प्रतीक है| जिसे विगत कुछ समय से पशु क्रूरता के नाम पर कोर्ट द्वारा बंद कर दिया है | जो जिला वीर तेजाजी महाराज (जिन्होंने गायों की रक्षा के लिये अपने प्राणो का बलिदान कर दिया था),  मीरा बाई, चतुरदास जी महाराज, संत शिरोमणि श्री लिखमीदास जी महाराज सहित कईं लोक देवी-देवताओं की जन्मस्थली रहा हो, वंहा पर पशु क्रूरता की बात करना भी दुर्भाग्यपूर्ण है|

    छोटी खाटू के लड़के ने पूरा किया New Year Resolutions , ग्रामीणो ने बनाया सरपंच !!!! [chhoti khatu village head ]

    4
    हम लोग हर नए साल पर कुछ Resolutions(संकल्प) बनाते हे परन्तु कमजोर इच्छा सकती और काम की व्यवस्थाओं के बीच हमारे संकल्प पहली तारीख के आधे दिन तक ही नहीं चल पाते हे | New Year Resolutions टूटना अब एक आम बात हो गयी हे । यही कारन हे की लोग दूसरों के टूटते हुवे Resolutions पर ठीक ढंग से हंस भी नहीं पाते। जब नया साल लगा तो हर बार की तरह इस बार भी लोगों ने New Year Resolutions  बनाने की परम्परा का निर्वाहन करते हुवे अपने अपने Resolutions बनाये और फिर बेफिक्र होकर अपने दैनिक कार्य करने लगे । लेकिन राजस्थान के नागौर जिले की डीडवाना तहसील के छोटी खाटू गांव में तो इस बार चमत्कार ही हो गया ।

    'होली' पर नरेन्द्र मोदी का प्रचार कैसे करे ...[How to promote Modi on Holi.]

    0


    'होली' और लोकसभा चुनावों का आगाज हो चूका हे । 'होली' के इस अवसर पर जब चारों और खुशियों की धूम छायी हुयी हे वंही दूसरी और 'नरेंद्र मोदी' उनके विरोधियों के चेहरों का रंग उड़ा रहे हे । हम सब कि हार्दिक इच्छा हे कि इस बार 'मोदी जी' देश के प्रधानमंत्री बने ।




                                                        

    दीपावली पर नरेन्द्र मोदी का प्रचार कैसे करे ...[How to promote Modi on Diwali.]

    1
    दिपोत्सव का आगाज हो चूका हे और लोकसभा चुनावों का आगाज होने वाला हे दीपावली के इस अवसर
    पर जब चारों और खुशियों की धूम छायी हुयी हे वंही दूसरी और 'नरेंद्र मोदी' उनके विरोधियों के फटाके छुड़ा रहे है। हम सब कि हार्दिक इच्छा हे कि इस बार 'मोदी जी' देश के प्रधानमंत्री बने अब प्रधानमंत्री का चुनाव कोई 'वार्डपंच' का चुनाव तो हे नहीं जो  रातों-रात गली वालों को मनाया और सुबह वार्डपंच बन गये। इस लिये एक लम्बी तैयारी करनी पड़ती हे और जायज हे कि यह तैयारी हमें करनी ही पड़ेगी ''तो क्यूँ इसकी शुरुवात दीवाली के शुभ अवसर से ही कि जाये''

    सभी के लिये खतरनाक ''मल्टीटास्किंग'' आखिर हे क्या ??? { About Multitasking }

    1
  • Wednesday, April 24, 2013
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: , , ,

  • 'मल्टीटास्किंग' एक आधुनिक बीमारी ही हे जो की बाकि जानलेवा बिमारियों से अधिक खतरनाक हे 'मल्टीटास्किंग' का अर्थ होता हे ''एक साथ कईं कामो का करना' और वर्तमान में  'मल्टीटास्किंग' के लिये सबसे ज्यादा जिम्मेदार कोई हे तो वह हे 'फोन और इंटरनेट' ।पुराने ज़माने के लोगों के पास सिमित कामधंधे थे इसलिए वो इस खतरे से बचे रहते थे परन्तु इस समय में हर व्यक्ति 'मल्टीटास्किंग' की समस्या से झुझ रहा हे , कईं बार तो वो चाहते हुवे भी 'मल्टीटास्किंग' का शिकार हो जाता हे

    'छोटी-खाटू' गाँव की यादें........तस्वीरों की शक्ल में !!(Chhoti- Khatu Village)

    4
  • Wednesday, January 30, 2013
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: ,



  • गाँव से लोटते ही एक पोस्ट लिखी थी..शायद आपने पढ़ी होगी
    गाँव से बहुत सी यादें साथ लेकर आया हूँ जिनमे से सबसे जयादा अच्छा तब लगा जब में हमारे गाँव के पर्यटक स्थल 'खांडया डूंगर' गया !!
    चलिए 'भगवान से शुरुवात' करते हे
    1.'करणी माता का मन्दिर'
    Krni Mata's temple , chhoti -khatu

       



                



    subscribe

     
    Copyright 2010 Vijay Pal Kurdiya